शेयर करे

देश के प्रधानमंत्री ने देश में किया ओडीएफ घोषित और एनडीआरएफ की टीम खुले में शौच के लिए मजबूर ।

कोई टिप्पणी नहीं
 कटिहार /नीरज झा :--देश राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मना  रहा है देश के सससे लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को खुले में शौच से मुक्त (ओडीएफ ) की घोषणा कर चुके हैं वहीं कटिहार के मनिहारी अनुमंडल में बाढ़ राहत में लगे एनडीआरएफ टीम खुले में शौच करने को विवस है ।





 कटिहार के अमदावाद, मनिहार ,बरारी, और कुर्सेला ,पोठिया मै बाढ़ ने कहर बरपा रखा है जिसे कई लोगो की मौत हो चुकी है कई अपने घरों को छोड़कर खाना बदोस की जिंदगी जीने को मजबूर है । बाढ़ की त्रासदी देखकर सरकार ने राहत देने के लिए एनडीआरएफ की टीम कटिहार भेज दिया जिन्हें कटिहार के मनिहारी मै लगाया गया लेकिन बाढ़ से लोगो को बचाने आई एनडीआरएफ की टीम को मनिहारी प्रखंड मुख्यालय के समीप रखा गया है जहां ना तो शौचालय की व्यवस्था है और ना ही पीने की पानी है भोजन की समुचित व्यवस्था नहीं होने के कारण भूखे रहने को मजबूर रही पूरी टीम ।




वहीं एनडीआरएफ के शेर सिंग पटेल ने कहा कि प्रशासनिक तालमेल के अभाव के कारण एनडीआरएफ की टीम को काम करने में परेशानी होती है । बीडीओ सीओ एवं एसडीओ के द्वारा टीम को अलग-अलग दिशा निर्देश दिए जाते है ऐसे मे प्रशासन पर उंगली उठना लाजिमी है। बाढ़ एवं वर्षा के दोहरे मार को झेल रहे मनिहारी प्रखंड के लोग प्रशासनिक उपेक्षा के शिकार से आक्रोशित है।




 बाढ़ राहत में प्रशासनिक पदाधिकारी के उदासीन रवैया के कारण बाढ़ पीड़ित के पास नहीं पहुंच रहा है सरकारी राहत बाढ़ पीड़ित लोगों को ना तो शुद्ध पेयजल की मिल रहा है और ना ही शौचालय की कि गई है व्यवस्था चारों तरफ फैले गंदगी एवं शौच से महामारी फैलने  संभावना बढ़ गयी है । राहत शिविर में चावल, दाल उपलब्ध कराया जाता है मगर तेल मसाले सब्जी के लिए राशि उपलब्ध नहीं कराने के कारण बंद करने को मजबूर होते हैं राहत शिविर के कर्मी । कुछ राहत शिविर में सुबह-शाम  भोजन तो कराया जाता है  लेकिन कई राहत शिविर मे एक समय ही बाढ़ पीड़ितों को भोजन कराया जाता है अधिकारियों के साथ साथ कटिहार के प्रभारी मंत्री के आश्वासन के बाद भी  सुधार नहीं किया गया इतना ही नही सुबह नाश्ता के लिए कोई व्यवस्था है छोटे-छोटे बच्चों के लिए नास्ता और दूध की व्यवस्था नही की गई है जिससे बाढ़ राहत केम्प मे रह रहे नौनिहालों के साथ अन्याय किया जा रहा है ।




 मनिहारी के दिलारपुर, बाघमारा, नगरपंचायत मनिहारी के निर्पेक मालाकार प्रदीप कुमार आलया देवी ने  कहना है की अधिकारी एवं राजनेता सिर्फ आश्वासन दे रहे हैं, मगर सरजमी पर ना तो आवागमन के लिए नाव मुहैया करवाई गई ना सूखे राशन का वितरण किया गया और ना समुचित राहत शिविर की व्यवस्था। मनिहारी अंचलाधिकारी से जब भी इस मामले मे बात की तो जिलाधिकारी अपना ही सर फोड़ने के लिए तैयार बैठा रहता है हम परेशान हैं आ जाइए कल आइए रोज प्रखंड कार्यालय दौड़ रहे हैं मनिहारी अंचलाधिकारी परेशान कर रहा है ।
          धुरियाही पंचायत के एक नंबर वार्ड  के निशाद अली ने कहा हमारे यहाँ कुछ नही मिल रहा है बाढ़ में डूब रहे है निकलने के लिए ना नाव है  ना खाने पीने का है ना प्लास्टिक है 15 दिनों से पानी है  जब सब्र का बांध टूट गया तो एकजुट हो कर प्रखंड कार्यालय मनिहारी पहुंच है मगर अधिकारी यहाँ से भी नदारद है चाहे प्रखंड विकास पदाधिकारी हो या मनिहारी अंचलाधिकारी सबके सब गायब दिखे  मायूस हो कर बाढ़ पीड़ित  ववापस जाने को मजबूर हो गये है
इस मामले को लेकर कटिहार के प्रभारी मंत्री राम नारायण मंडल से जब पूछा गया तो उन्होंने कहा कि बाढ़ का एरिया है यहां पर शौचालय सरकारी है ना, देख रहे है ना , सब कुछ कर रहे है निश्चिंत रहिए पॉजिटिव सोच रखये हम लोगो के प्रति सरकार के प्रति अगर कमी  है तो उजागर किजये ।
 जब सुबह के ही मंत्री सब कुछ देख कर अंजान बने हो और प्रशासन को क्लीन चिट देने में लगे हो लोगों को अब सब समझ में आने लगी है की सरकार या प्रशासन आस लगाना व्यर्थ है

©www.katiharmirror.com

कोई टिप्पणी नहीं

शेयर करे

Popular Posts

Featured Post

दर्जनों आवास लाभुकों को कदवा थाने मे लाकर पीआर बांड पर छोड़ा ।

कदवा/कदवा/अंशु झा :- कटिहार मे इंदिरा आवास की राशि का उठाव कर भवन नही बनाने वाले लाभुक पर सरकार ने अब कार्यवाही करने का मन बना लिया है । ...

Blog Archive