शेयर करे

बगैर दुल्हन के बारात दरवाजे से लौटी

कटिहार / अमदावाद/ संजय कुमार;- अमदाबाद प्रखंड के किशनपुर पंचायत के बैद्यनाथपुर मैं नाबालिग की शादी करने की सुचना पर गांव में जिला प्रशासन ने पहुंच कर नाबालिक लड़की की शादी रोकी दी। स्थानीय समाज के लोगो बुद्धिजीवियों और जिला प्रशासन ने दुल्हन बनी नवालिक बच्ची के जन्म प्रमाण पत्र की जाँच कर नावालिक होने का प्रमाण पत्र देकर शादी नही करने को फरमान सुना दिया । किशनपुर पंचायत के बैद्यनाथ पुर गांव के नुरुल हक की 17 वर्षीय बेटी संजीदा खातून की शादी उसी के गांव के नाजिर हुसैन के पुत्र मोहम्मद गुलजार 21 साल से हो रही थी बारात लड़की के दरवाजे पर भी पहुंच चुकी थी शादी की रश्मो रिवाज शुरू भी  हो चुका था लेकिन ऊपर वाला को और ही मंजूर था ।  जिला प्रशासन को जाँच के वाद पता पता चला की लड़की की उम्र 18 साल पूरी नहीं हुई है इसे लेकर प्रखंड विकास पदाधिकारी मृत्युंजय कुमार अमदाबाद थाना के एसआई अब्दुल मन्नान दल बल के साथ मौके पर पहुंचे साथ ही किशनपुर पंचायत के मुखिया मुनेंद्र यादव उत्तरी करिमुल्लापुर पंचायत के मुखिया मुकम्मल हक किशनपुर पंचायत के पूर्व मुखिया नजमुल हक एवं अन्य ग्रामिणों अब्दुल रज्जाक वार्ड सदस्य  सहित अन्य ग्रामिणों लेकर मामले की जानकारी ली जिसमें लड़की नाबालिग पाई गई प्रशासन ने सामाजिक लोगों के सहयोग से एवं लड़का लड़की के पक्ष को लेकर इस मुद्दे पर मना लिया की एवं लड़का एवं लड़की लड़की की आयु 18 वर्ष पूर्ण होने पर उसी लड़के के साथ उसकी शादी होगी प्रखंड विकास पदाधिकारी डॉ मृत्युंजय कुमार ने कहा कि  अनुमंडल पदाधिकारी के निर्देश पर  बैद्यनाथ पुर गांव में हो रहे  नाबालिग लड़की की शादी को  ग्रामीण लोगों के साथ मिलकर एवं  दोनों पक्षों के सहयोग से रोका गया दोनों पक्ष लड़की की आयु पूरी होने पर शादी करने की बात पर तैयार हो गए|

एक टिप्पणी भेजें
शेयर करे

Popular Posts

Featured Post

छठ पूजा के दौरान भूलकर भी ना करें ये गलतियां

छठ पूजा के दौरान भूलकर भी ना करें ये गलतियां   -------------------------------------------------------------- चार दिनों तक चलने वाला छठ का म...

Blog Archive