शेयर करे

नाबालिग को जेल भेजने का किया विरोध

कोई टिप्पणी नहीं
कटिहार के सहायक थाना क्षेत्र के बरमसिया निवासी चिन्टू यादब के आवेदन पर आनन फानन में नाबालिग  को पकड़ कर जेल भेज दिया गया। जबकि 14 वर्ष से कम उर्म के नाबालिग बच्चों को बाल सुधार गृह भेजा जाना था ।


दर्जनों निगम वार्ड पार्षद के साथ उषा देबि ने जिले के पुलिस कप्तान से मिल कर  लिखित शिकायत सूबे के मुख्यमंत्री से लेकर कटिहार जिले के पुलिस कप्तान विकाश कुमार को की है । 09 नंबर वार्ड के निगम वार्ड पार्षद उषा देबि ने बताया मेरे नाबालिग  पुत्र विशाल कुमार जिनका जन्म प्रमाण पत्र मैं जन्म तिथि 05 मार्च 2005 है झूठा FIR कर  बिना जाँच कीये मेरे पुत्र को बालिग़ बता कर कटिहार मंडल कारा मैं अपराधियो के बीच भेज दिया गया ।
पुलिस अधीक्षक से मिलने के बाद वार्ड पार्षद गुजन घोष ने बताया जेल से निकलने के बाद बच्चे की मानसिक स्थिति ठीक नही है |



इस पूरे घटनाक्रम में पुलिस उप महा निरीक्षक सौरभ कुमार ने संज्ञान लेते हुए जांच के आदेश दे दिए
 उषा देबि, गुंजन घोष , अनिता शर्मा , गीता देबि , कृष्णा देवी , दीपक सिंह , चंद्रशेखर यादव , किशन बजाज उर्फ बुल्ली बजाज , दीपक पासवान , पप्पू पासवान ,रुपेश दास ,सूरज राय , अन्य कई और वार्ड पार्षदों ने एक सुर में नाबालिक को बालिक बताकर जेल भेजेने के मामले में एक सुर में विरोध दर्ज कराया और बताया अगर ऐसे पुलिस पदाधिकारियों पर कार्यवाही नही गयी तो चरण बद्ध तरीके से विरोध किया जायेगा ।

कुमार नीरज

©www.katiharmirror.com

कोई टिप्पणी नहीं

शेयर करे

Popular Posts

Featured Post

सदर अस्पताल से इलाज कराने आया कैदी फरार

कटिहार/नीरज झा;--- कटिहार मंडल कारा से बीमार कैदी चंदन कुमार राम का इलाज कराने 2 जून को ही कटिहार सदर अस्पताल लाया गया था ।

Blog Archive