Katihar घोरदह की घटना पर ग्रामीणों व पुलिस ने दिया सहिष्णुता का परिचय


कटिहार/आजमनगर :सालमारी ओपी क्षेत्र के घोरदह में बीते दिनों एक  हीं परिवार के चार निःशक्त सदस्यों को कथित दबंगों के द्वारा घर में बंद कर जिंदा जलाने के मामले में ग्रामीणों व पुलिस ने सहिष्णुता का परिचय दिया है |

.जिसकी दोनों एक दूसरे से मिले अपेक्षित सहयोग की चर्चा सभी की जुबान पर है|घटना में जहाँ सोमवार की अल सुबह पज्जन दास के दो मासूम आग में जल कर मर गया वहीं मंगलवार को सदर अस्पताल में इलाज के क्रम में पज्जन दास की पत्नी मंजुला देवी भी जिंदगी की जंग हार गई|उक्त घटना में गंभीर रूप से घायल पज्जन दास इलाज रत है|और सीने में दो मासूमों व पत्नी को खोने की गम को लिए घायल अवस्था में जिंदगी और मौत से जंग कर रहा है|गंभीर पज्जन को सुरक्षित बचा पाने में डॉक्टरों की टीम तो लगी है.लेकिन स्थिति अब भी नाजुक बनी हुई है|
*घोरदह घटना पर गुफ्तगू करते कटिहार एसपी विकास कुमार व एसडीपीओ पंकज कुमार एसडीओ पवन कुमार मंडल बारसोई *
मालूम हो घटना  की खबर गांव से निकल जिला मुख्यालय पहुँचते हीं बीते सोमवार को हड़कम्प मच गया था.अब सवाल उठता है.कि घटना को अंजाम क्यों और किस कारण दी गयी |इसकी वजह तलाशने में पुलिस घटना की राख में  वजह तलाश रही और अब भी घटना में शामिल क्या सभी कथित आरोपियों की शिनाख्त पुलिस कर पाई है|आजमनगर प्रखंड क्षेत्र में इस तरह की पहली घटना घटित होने से समाज के लोग स्तब्ध है|वहीं घोरदह की आवाम घटना के दिन से काफी ख़ौफ़जदा हैं.|नके ख़ौफ़ को दूर करने के उद्देश्य से घोरदह क्षेत्र में मंगलवार को भी एसपी विकास कुमार,एसडीपीओ बारसोई पंकज कुमार ने गांव में शांति माहौल बनी रहे इसको लेकर पुलिस बलों व जवानों के फ्लैग मार्च निकाला गया जिससे गांव पुलिस छावनी में तब्दील है|

गति विधि पर नजर रखते आजमनगर थाना प्रभारी शंकर शरण दास व इंस्पैक्टर बारसोई*



बावजूद इसके स्थानीय लोग ख़ौफ़ के साये में जीवन गुजार हीं नहीं रहे बल्कि लोग डरे सहमें हुए हैं|लोग घटना की जमीनी जांच कर उद्भेदन किये जाने की मांग की रफ्तार तूल  पकड़ सकती है|चर्चा यह भी कि झुलसे घायल दंपत्ति विवादित भूमि के आगे चाय की दुकान चलाता है.उस बिहार सरकार की भूमि के पीछे आखिर खाते की जमीन किसकी है?इसके खरीद बिक्री के पीछे की तहकीकात पुलिस को करनी चाहिए ताकि इसमें जो भी लोग शामिल हैं.उनकी गिरफ्तारी संभव हो पाएगी|घोरदह में तैनात पुलिस बलों की तादात को देख लोग कहते नजर आए कि त्योहार के मद्देनजर अमन चैन बरकरार बनाये रखने के लिए एसपी विकास कुमार एसडीपीओ बारसोई पंकज कुमार खुद मॉनिटरिंग कर रहे हैं|



घोरदह मामले में दो गिरफ्तार जेल:-


सालमारी ओपी क्षेत्र के घोरदह प्रकरण में पुलिस ने घटना को अंजाम देने अथवा संभावित संलिप्तता के कथित आरोपों से घिरे अब्दुल रहमान अंसारी मोकीना खातून को गिरफ्तार कर पुलिस ने कोर्ट पेशी के बाद जेल भेज दिया उक्त आशय की जानकारी देते हुए सालमारी ओपी प्रभारी कृष्णा नंद प्रसाद सिंह ने बताया कि मामले में आरोपों से घिरे दो आरोपितों को गिरफ्तार के मंगलवार को कोर्ट में पेशी के बाद जेल भेज दिया गया है|इससे पूर्व पुलिस ने इन दोनों आरोपितों से घटना के बाबत काफी पूछ ताछ की पुलिसिया कॉरिडोर से जानकारी में पूछ ताछ क्रम में पुलिस को कई अहम सुराग हाथ लगने की बात बताई जा रही है|संभावना यह भी व्यक्त की जा रही कि जल्द हीं घटना में शामिल रहे(अज्ञात फरारियों)की गिरेबान पर पुलिस के हाथ पहुँच जाएंगे|पुलिस हिरासत में लेकर सख्ती से पूछ ताछ कर रही जबकि तीन आरोपी की तलाश में पुलिस जुटी हुई है|घटना को लेकर मामला भी दर्ज कर लिया गया है.




एसपी पहुँचे सालमारी ओपी:-


एसपी विकास मंगलवार की देर शाम सालमारी ओपी पहुँचे जहाँ उन्होंने काफी देर घोरदह की घटना पर एसडीपीओ पंकज कुमार से विचार विमर्श किये इस दौरान एसपी विकास कुमार एसडीपीओ बारसोई पंकज कुमार से बात चीत में कहा कि घोरदह घटना की लिटमस स्टेटस बड़ी बारीकी से जांच करने होंगे |इस घटना में कोई ऐसा पहलू अनछुए नहीं रह जाये जिससे की कोई भी दोषी व्यक्ति अथवा घटना में शामिल रहे शातिर कानून के शिकंजे से बच नहीं पाए इस बात का भी पूरा खयाल अनुसंधान के दौरान पुलिस के आला कमान भी रख रहे हैं|रखे भी क्यों नहीं तीन जाने हीं नहीं गयी हैं.बल्कि एक पज्जन दास जिंदगी और मौत के बीच सिसकियां ले रहा हैं|


जमीन खरीददार की गिरेबान पुलिस पकड़ से दूर क्यो?


महिला मंजू देवी और उसके पति पजन दास के मुताबिक बताया वे लोग हरनागर गांव के रहने वाले हैं.गांव से दो  किलोमीटर दूर  घोरदह हाट पर अपनी चाय दुकान चलाता था|उसका दुकान बिहार सरकार की जमीन पर संचालित है.ठीक बिहार सरकार की जमीन व पज्जन दास के चाय की दुकान के पीछे खाते की जमीन को मजलूम आलम ने खरीद लिया था|ऐसा स्थानीय सूत्रों द्वारा बताया जा रहा कि रविवार की शाम लगभग पांच बजे उक्त जमीन खरीददार काल्पनिक नाम मजलूम उनके दुकान पर आया था.और कहा गया था. कि जमीन खाली कर दो नहीं तो सबको जिंदा जला कर मार देंगे |इस घटना के बाद वे लोग रात में दुकान को बंद कर रात में झोपड़ीनुमा चाय  दुकान के अंदर हीं अपनी दोनों बेटी के साथ सो गयी रात करीब बारह से एक बजे के बीच उन्होंने देखा कि उसके बिस्तर में आग लगी हुई है.मच्छरदानी पूरी तरह से जल रहा है.जब तक वह कुछ समझ पाती तब तक आग में उसके दो छोटे छोटे मासूम बच्चे झुलस गई थी|पांच वर्षीय प्रीति कुमारी घायल माँ के सामने ही जिंदा जलकर मर गई जबकि2वर्षीय किरण कुमारी पूरी तरह झुलस कर भी जीवित थी|जो अस्पताल जाते जाते मर गयी चीखने चिल्लाने पर आसपास के लोग वहां पहुंचे और उन्हें और उनके बच्चे को इलाज के लिए कदवा अस्पताल ले गए जहां स्थिति को गंभीड़ देखते हुए सदर अस्पताल कटिहार भेज दिया गया.


खानन मंत्री पहुँचे घोरदह,जाना पीड़ित परिवार का हाल:-


मंगलवार की देर संध्या सूबे के खनन मंत्री विनोद कुमार सिंह पीड़ित परिवार का हाल जानने पहुंचे घोरदह स्थित पीड़ित परिवार के घर जहाँ घटना को अंजाम दिया गया का मुआयना कर मंत्री ने गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा ये इंसानियत की हत्या है|पीड़ित परिवार के मुखिया रमलू दास से मिलकर उन्होंने उनको ढांढस दिया और हर सम्भव मदद का भरोसा दिया।मंत्री ने कहा कि मृतक के परिजनों को उचित सरकारी सहायता अविलंब मुहैया करायी जायेगी।जिसको ले जिला स्तर के अधिकारियों से बात कर ली गयी है।आगे उन्होंने कहा दोषियों को कड़ी सजा मिले इसकी भी अपील प्रशासन से करेंगे।इस दौरान मौजूद अधिकारीयों से भी उन्होंने मामले को गंभीरता से लेते हुए कड़ी कार्रवाई करने व पीड़ित परिवार की हर संभव मदद करने का निर्देश भी दिया.


कहते हैं एसपी:-

एसपी विकास कुमार ने कहा कि घोरदह प्रकरण में हिरासत में लिए दो आरोपितों को पूछ ताछ के बाद जेल भेज दिया गया है.मामले की बारीकी से जांच की जा रही जो भी लोग घटना क्रम में शामिल होंगे वो बख्शे नहीं जाएंगे गांव में पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल की तैनाती कर दी गयी है|



तुषार शांडिल्य

©www.katiharmirror.com
एक टिप्पणी भेजें

Featured Post

सरकारी डोंगल की कहानी- पास्पोर्ट की ज़ुबानी

कटिहार:|कुमार नीरज: अगर आप विदेश दौरा करने को सोच रहे है तो होशियार हो जाइये  | सरकार लाख दावा करले डिजिटल इंडिया साइनिंग इंडिया की लेक...