शेयर करे

तटबंध का एसडीओ ने किया निरीक्षण,नदी की भौगोलिक स्थिति से हुए रूबरू:-----कटिहार मिरर से की बात

कोई टिप्पणी नहीं
Katihar News तटबंध से नदी का मुआयना करते एसडीओ व अन्य
कटिहार/आजमनगर : बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल सालमारी अंतर्गत महानंदा नदी के विभिन्न आक्रामक हीं नहीं अतिसंवेदनशील बिंदुओं(स्परों)का बारसोई एसडीओ पवन कुमार मंडल ने निरीक्षण किया |
इस क्रम में बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल सालमारी के कार्यपालक अभियंता सच्चिदानंद साह सहित कनीय अभियंता उमेश चंद्रा के अलावे अन्य जेई,एसडीओ भी अपने अपने बिंदुओं की भौगोलिक स्थिति से एसडीओ मंडल को अवगत कराते देखे गए |निरीक्षण के बाद एसडीओ ने बाढ़ के वक्त सभी कर्मियों को शक्रिय रहने की सलाह देते हुए उन्हें नसीहत भी दिए हैं.कि बाढ़ के समय लापरवाह कर्मियों को किसी सूरत में नहीं बख्शा जाएगा|जेई चंद्रा ने बताया कि एसडीओ ने कई आक्रामक बिंदुओं का जायजा हीं नहीं लिए हैं.बल्कि बीते वर्ष की बाढ़ में उक्त बिंदुओं की क्या स्थिति रही उक्त बातों से भी अवगत कराए गए|.वहीं बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल सालमारी के कार्यपालक अभियंता सच्चिदानंद साह और उनके जेई किये एंटीरोजन कार्य में मजबूती और गुणवत्ता का दंभ भर रहे हैं|अब देखने वाली बात यह होगी कि अधिकारियों के भरे जा रहे दंभ को महानंदा की तेज प्रवाह कितना सहन करती है|इस बात का अंदाजा महानंदा नदी में जलस्तर वृद्धि के साथ हीं लगाना संभव हो पायेगा|हलांकि बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल सालमारी ने बीते वर्ष भी करोड़ों रुपये से किये गए कार्यों में मजबूती के दावे किए थे|बावजूद इसके पांच जगह तटबंध टूट जाने भारी तबाही हुई जो सरकारी फाइलों में एक इतिहास के रूप में दर्ज हो गया है|

कहाँ कितनी लागत से हुए हैं एंटीरोजन का कार्य:-

बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल सालमारी व कटिहार डीविजन अंतर्गत बीते वर्ष बाढ़ में टूटे तटबंधों का मरम्मती कार्य विभिन्न बिंदुओं पर विभिन्न राशि से की गई है.विभाग से अपुष्ट जानकारी में क्रमशःगुठेली523.80,मरही605.590,शीशाबाड़ी578.42,झिल्लीपारा774.48,बागडोभ स्थित भर्री ग्राम के समीप376.782लाख रुपये से तटबंध मरम्मती कार्य कराये गए हैं.

बिंदु है अतिसंवेदनशील:-
सालमारी बाढ़ डिवीजन में जितने भी बिंदु हैं उनमें से 56,44,62,64,15अतिसंवेदनशील बिंदुओं की श्रेणी में है.स्पर56के नोज बीते वर्षों में कई बार ध्वस्त भी हुए वहीं44वर्ष 2007 में टूटने की वजह से यहाँ अधिकारी को लोगों ने पानी में उठा फेंक दिया था.तब उस वक्त मामले को लेकर स्थानीय थाने में मामला भी दर्ज हुआ हुआ था.साथ हीं वर्ष2017में आई बाढ़ में तटबंध कई जगहों पर करोड़ों रुपये खर्च के बाद भी टूट जाने से भीषण जान माल की क्षति हुई इन तमाम होनी को देखते हुए वर्ष2018में भी 100करोड़ से भी ज्यादा रुपये खर्च किये गए हैं.

कहते हैं एसडीओ:-

एसडीओ पवन कुमार मंडल ने कटिहार मिरर से वार्ता में बताया कि बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल सालमारी अंतर्गत कई आक्रामक बिंदुओं का जायजा लिया गया कुछ जगहों पर कार्य होने बांकी हैं.जिसे जल्द पूर्ण करने साथ हीं सभी कर्मियों को बाढ़ की संभावित आगमन को भांपते हुए अभूतपूर्व तैयारी में जुटे रहने के भी निर्देश दिए गए हैं.कुछ जगहों पर तटबंध में बोल्डर भी लगाए जा रहे हैं.विभाग के मुताबिक इसे जल्द पूर्ण कर लिया जाएगा


तुषार शांडिल्य


©www.katiharmirror.com

कोई टिप्पणी नहीं

शेयर करे

Popular Posts

Featured Post

बरारी दियरा में तैयार फसल पर वर्चस्व की लड़ाई को लेकर दो गुटों में हुई दिन दहाड़े फायरिंग

कटिहार/बरारी/नीरज झा/नरेश चौधरी:-- पूरा सूबा चुनावी रंग में रंग गया है लेकिन गोलियों की तड़तड़ाहट से गुंजा उठा बिहार का कटिहार । कटिहार के बर...

Blog Archive