Thursday, April 05, 2018

Katihar जेपी आंदोलन के कटिहार प्रभारी विश्वमोहन सिंह उर्फ बच्चा बाबू का निधन ,शोकाकुल हुवा परिवार



जयप्रकाश आंदोलन के बाद देश में कई राजनेताओं का उदय हुआ जिनमें लालू प्रसाद यादव नीतीश कुमार रामविलास पासवान सुशील कुमार मोदी जैसे सरीखे राजनेतावो ने राजनीति शुरू की । 
बिहार से उठी संपूर्ण क्रांति की चिंगारी देश के कोने-कोने तक पहुंची लेकिन कटिहार में जे पी आंदोलन की चिंगारी की मशाल को थामने वाले कटिहार के कोडा निवासी विश्व मोहन सिंग उर्फ बच्चा बाबू लंबी बीमारी के बाद उनकी मृत्यु हो गई लेकिन पशासनिक लापरवाही के चलते जेपी सेनानी पेंशन का लाभ नही मिल पाया । तीन भाइयों में सबसे बड़े बच्चा बाबू के नाम से जाने जाते थे । अपने पिछे पत्नी और दो पुत्र तीन पुत्री के साथ फला फुला परिवार छोड़ गये है । उनके भतीजे भानु सिंह ने बताया  मृदुभाषी होने के कारण अपने छेत्र के काफी लोकप्रिय थे । पिता स्वर्गीय शिवरोदन सिंह जो स्वतंत्रता सेनानी थे बचपन से ही उनके नक्शे कदम पर चलते जेपी आंदोलन मै कूद गये औऱ भानु सिंह ने बताया
बच्चा सिंह जेपी आंदोलन में कई  महीने जेल में भी रहे फिर भी सरकारी महकमों में आज तक इनका नाम शुमार नहीं किया गया जो बेहद चिंता का विषय है जेपी आंदोलन से जुड़े सामाजिक कार्यकर्ताओं को पेंशन देने की घोषणा सरकार कर रखी है लेकिन आज तक यह योजना का लाभ स्व बच्चा सिंह को नहीं प्राप्त हुआ ।
 आंदोलन में  स्वर्गीय बच्चा बाबू के  सहयोगी रहे कटिहार  पूर्व राज्य मंत्री राम प्रकाश महतो ने कई बातें उनके बारे मे बताया उन्होंने कहा 1974 मैं विधायक रहे युवराज बाबू ने जे पी के आह्वान पर रिजाइन कर आंदोलन करने लगे और यूबराज बाबू के करीबी माने जाते थे |
उन्होंने और कहा जेपी आंदोलन से जुड़े लोगो को जेपी सेनानी पेंशन दिया जाता है जो लोग छह माह से कम जेल मे रहे उनको पाँच हजार औऱ जो छह माह से जादे रहे है उनको दश हजार पेंशन दिया जाता है स्व विश्व मोहन सिंह उर्फ बच्चा बाबु को क्यों नही मिल रहा है पेंशन जाँच का विषय है ।



डॉक्टर रामप्रकाश महतो ने कहा जेपी आंदोलन के समय दो संगठन बनी थी छात्र संगठन समिति और जन संघर्ष समिति बच्चा बाबू जन संघर्ष कमेटी के एक्टिव मेंबर थे डॉक्टर महतो ने कहा जो लोग जेपी आंदोलन के तहत जेल गए हैं आरटीआई के तहत सूचना जेल से मांगनी चाहिए थी या जेल सुपरिटेंडेंट को आवेदन देकर सूचना लेकर राज्य सरकार को देना चाहिए था ।स्व विश्व मोहन सिंह उर्फ बच्चा बाबू की आकस्मिक मौत से पूरा क्षेत्र शोकाकुल है

Kumar Neeraj

©www.katiharmirror.com
Post a Comment

Get Katihar Mirror on Google Play

Katihar News App (Katihar Mirror) https://play.google.com/store/apps/details?id=sa.katiharmirror.com

Scroling ad