शेयर करे

Katihar News डा फैयाज़ आलम की मृत्यु पर परिजनों ने लगाये गंभीर आरोप

1 टिप्पणी
इस बुजुर्ग दम्पत्ति को देख कर किसी का भी कलेजा फट जायेगा अपने जिगर के टुकड़े को इंसाफ दिलाने को लेकर दर दर भटकती बुजुर्ग दंपत्ति डाक्टर फेयाज आलम की अम्मी और अब्बू  है |दो भाई पर सिर्फ एक फेयाज आलम ही तीनो  का सहारा था |


 डाक्टर फेयाज आलम कटिहार मेडिकल कॉलेज से MBBS कर फिर यहीं से MD (Radiology) कर रहे थे। बीते 20 मार्च को अपने रूम पर संदेहहास्पद स्थिति मै मृत पाए गए।  पोस्टमार्टम रिपोट में सर पर चोट लगने से मौत बताई जा रही है | लेकिन कॉलेज प्रशासन ने मामले पर चुप्पी साध राखी है|

 डाक्टर फेयाज आलम की अम्मी  सितारा वेगम और अब्बू मोहमद फारुक का कहना है कि कटिहार मेडिकल कॉलेज के मुखिया अहमद अश्फ़ाक करीम ने एक बार भी हमसे मुलाक़ात नहीं की | साथ ही रो रो कर  हत्या के पीछे मेडिकल कालेज मेनेजमेंट के होने का आरोप लगाया है| पैसे को लेकर ही हत्या की बात कही| घर वालों ने यहाँ तक कहा कि कॉलेज प्रशासन पर अक्सर बच्चों से धन उगाही का आरोप भी लगाया है| उनका आरोप है कि  कम नम्बर देकर 5-7 लाख रुपय की माँग होती थी तो कभी प्रैक्टिकल में मार्क्स बढ़ाने के नाम पर बच्चों से पैसा माँगा जाता था।
मृतक के माता पिता का आरोप है कि डाक्टर फेयाज अक्सर इन बातों का विरोध करते थे जिसकी वजह से उनकी  हत्या की गयी |





इस मामले को लेकर कटिहार के पुलिस कप्तान डाक्टर सिद्धार्थ मोहन जेन से जब पूछा गया तो उन्होंने बताया की पुलिस इस मामले को विभिन्य विन्दुवो पर मिर्तक डाक्टर के शारीर को फिरेंसिक लेबोटरी मै भेजा गया है मिर्तक का मोबाइल और लेपटोप को सीज कर पटना साईंबार सेल भेजा गया है पुलिस काम कर रही है सभी विन्दुवो पर जाँच के दोरान जो भी न्याय पूर्ण कार्यवाही की ज़रूरत  होगी वह की जाएगी |

परिजन के दुवारा पैसे लेन देन पर बोले कटिहार पुलिस कप्तान: MBBS करने के समय पैसे को लेकर कुछ मामला आया था लेकिन उस पहलु को भी ध्यान देकर जाँच की जा रही है|

 जानकारी के लिए बता दे कि अशफाक करीम  कटिहार से RJD के राज्यसभा सदस्य चुने गए हैं। अल-करीम फ़ाउंडेशन के चेयरमैन हैं जिसके तहत कटिहार मेडिकल कॉलेज चलता है। लगभग 55 एकड़ में फैला हुआ ये मेडिकल कॉलेज 1987 में स्थापित हुआ था।

Kumar Neeraj

 ©www.katiharmirror.com

1 टिप्पणी

Kazimirfani ने कहा…

#JusticeForDrFaiyaz
Dr Faiyaz, a young doctor who was studying MD in Katihar Medical College was found dead with severe head injury on 20th March. The college is a private medical college that charges Rs 40 lakh as fee without donation when one has got through NEET. One month is going to be over but the college administration hasn't officially informed his family yet. Dr. Faiyaz's mother Sitara Begam spoke to him on 19th March in the night and he said that he is facing threats from some 'enemies'.
The absolutely irresponsible role of the college administration in the entire episode raises question on their role. Lives of students can not be so cheap for the profit mongering of private colleges.
AISA along with the family of Dr. Faiyaz is having a press conference right now. We demand a High Level Enquiry on the death of Dr. Faiyaz including the role of the college administration.

Kazim Irfani
Vice-President
AISA Bihar

शेयर करे

Popular Posts

Featured Post

कैंडल मार्च निकलकर मृत अवधेश मिश्रा को श्रधांजलि और कारवाही की मांग

कटिहार/नीरज झा :- पिछले दिनों शहर के सटे हाजीपुर मे अवधेश मिश्रा की हत्या के बाद अब तक पुलिसिया कार्यवाही में अबतक ठोस कार्रवाई नहीं होने प...

Blog Archive