शेयर करे

Katihar इंदिरा गाँधी पुस्तकालय में महिला सशक्तिकरण पर हुई विचार गोष्ठी

आज दिनांक 25 फरवरी 2018 को इंदिरा गांधी जिला केंद्रीय पुस्तकालय मे एक संवाद कार्यक्रम के तहत महिला सशक्तिकरण : कितना सच/ कितनी हकीकत विषय पर विचार गोष्ठी का आयोजन इप्टा के आलोक कुमार जी की अध्यक्षता में किया गया ।
जिसमे लगभग 30 लोगों ने कार्यक्रम में हिस्सा लिया । कार्यक्रम का संचालन रंजीत तिवारी ने किया । बारी बारी से सभी वक्ताओं ने महिला सशक्तिकरण के संदर्भ में अपनी बातें रखी ।

आज सबसे महत्वपूर्ण पहलू यह था कि पुरुषों से ज्यादा महिलाओं की संख्या ,इस विचार गोष्ठी में देखी गई । वक्ताओं में मुख्य रूप से शादान खान महिलाओं के व्यक्तित्व पर अपनी बातें रखी। तत्पश्चात आलोक झा ने भी महिलाओं के विभिन्न आयामों के संदर्भ में अपनी बातें रखी । श्रीमती रीमा रंजन ने महिलाओं को ज्यादा जागरूक होने की बात कही ।देवश्री राय ने महिलाओं को अपने हक के संदर्भ में जानने की आवश्यकता है । ठाकुर राष्ट्र भूषण चौक में कहा कि महिलाओं के अधिकार को स्वतंत्रता एवं स्वच्छता पर गौर करना अनिवार्य है तभी सशक्तिकरण का पूरा अर्थ सामने आ सकता है ।श्री कृष्ण कुमार कौशिक ने कहा नारी शक्ति स्वरूपा होती है ,शक्ति के बिना मनुष्य शव के समान हो जाता है । जहां पर नारी की पूजा होती है ,वहां पर देवताओं का वास होता है अतः नारी सशक्तिकरण के अवसर पर समस्त मातृशक्ति को अपनी ओर से शुभकामनाएं व्यक्त की ।

निरूपमा कर्ण , रचना कुमारी ,रीता कुमारी, जयंती कुमारी ,कंचन रूपा, दयानंद कुमार अमितेश रंजन, प्रसून परिमल, रीमा रंजन, प्रियंका भौमिक ,पूनम शर्मा ,शबाना परवीन, शांति शर्मा, जयश्री रॉय, मोहम्मद शमीम अंसारी ,अमरेंद्र सिंह, राजेश गुरनानी जी मुख्य रूप से मौजूद थे । गुरनानी जी ने महिला सशक्तिकरण के विचार को स्पष्ट किया । आलोक कुमार जी ने सशक्तिकरण के संदर्भ में अपने विचार रखा एवं धन्यवाद ज्ञापन कर कार्यक्रम का समापन किया गया ।


©www.katiharmirror.com
एक टिप्पणी भेजें
शेयर करे

Popular Posts

Featured Post

छठ पूजा के दौरान भूलकर भी ना करें ये गलतियां

छठ पूजा के दौरान भूलकर भी ना करें ये गलतियां   -------------------------------------------------------------- चार दिनों तक चलने वाला छठ का म...

Blog Archive