Katihar देश के अग्रणी जिलों में शुमार होगा कटिहार

देश के अग्रणी जिलों में शुमार होगा कटिहार, नीति आयोग की ओर से भारत सरकार के ग्रामीण विकास विभाग के संयुक्त सचिव पहुंचे कटिहार, की समीक्षा :
न्यू इंडिया- 2022 के तहत कटिहार जिले के कार्य योजना एवं जिले में विकास को गति देने को लेकर संभावनाएं तलाश करने हेतु नीति आयोग की ओर से भारत सरकार के ग्रामीण विकास विभाग के संयुक्त सचिव श्री अमित कुमार तिवारी कटिहार पहुंचे।
 जिले में आवश्यकता आधारित सेक्टरों को चिन्हित करने, भारत सरकार द्वारा निर्धारित विकास के मानकों पर जिला पदाधिकारी, श्री मिथिलेश मिश्र से विस्तार से बातचीत की। समाहरणालय के सभाकक्ष में इस उद्देश्य को लेकर आयोजित बैठक को संबोधित करते हुए श्री तिवारी ने कहा कि कटिहार सहित देश के कई पिछड़े जिलों को नीति आयोग ने विकास की गति तेज करने के उद्देश्य से चिन्हित किया है।


आज का हमारा दौरा एवं बैठक इसी उद्देश्य को लेकर है कि कटिहार जिले के किन-किन क्षेत्रों में विशेष फोकस करने की जरूरत है, जिससे यहां के लोगों का जीवन स्तर बेहतर हो सके एवं देश के सकल घरेलू उत्पाद के सूचकांकों में जिले का भी बेहतर योगदान हो सके। उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि आज कि यह प्राथमिक बैठक है जिला प्रशासन द्वारा जिला कार्य योजना तैयार किया जा रहा है। भारत सरकार ने भी इस मामले में अपने कई मानक तैयार किए हैं, जिसके आलोक में इसका अंतिम प्रतिवेदन तैयार किया जाना है। उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि चूंकि यह जिला आपदा प्रवण जिला है, इसलिए आवश्यकता इस बात की है कि जिला आपदा प्रबंधन की ओर से स्थानीय बाढ समस्याओं पर आधारित एक मानक संचालन प्रक्रिया तैयार हो। शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं स्थानीय प्राकृतिक संपदा पर आधारित उद्योग एवं पर्यटक स्थलों का विकास हो, इसकी एक विस्तृत रूपरेखा एवं प्राक्कलन प्रतिवेदन तैयार की जानी है। उन्होंने बताया कि आगामी फरवरी 2018 में इस संबंध में पुनः समीक्षा बैठक आयोजित होगी।
 बैठक में जिला पदाधिकारी, श्री मिथिलेश मिश्र ने जिले के प्रमुख भौगोलिक स्थितियों, प्राकृतिक परिस्थितियों, आपदा के दौरान जिले की स्थिति एवं जिले के विकास हेतु भविष्य की संभावनाओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि दो बड़ी नदियां महानंदा एवं गंगा इस जिले से होकर गुजरती हैं। इसके अलावा कोसी एवं रीगा नदी की धाराएं भी यहां से गुजरती हैं। नदी पर्यटन के लिए इस जिले में बेहतर संभावनाएं हैं। कटिहार एक कृषि प्रधान जिला है। जूट, मक्का, मखाना, केला आदि फसलों की यहां अच्छी पैदावार होती है। उन्होंने कहा कि एग्रो आधारित खाद्य प्रसंस्करण केंद्र की स्थापना हेतु सामग्रियां एवं मानव संसाधन यहां उपलब्ध हो सकते हैं। उन्होंने भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय के संयुक्त सचिव श्री अतुल कुमार तिवारी को जानकारी देते हुए कहा कि आपदा प्रवण जिला होने के नाते प्रत्येक वर्ष बाढ़ के कारण यहां के लोगों का जीवन प्रभावित होता रहता है, उसके स्थाई समाधान हेतु निर्णय लेने की आवश्यकता है। कटिहार में बंद पड़ी जूट मिल के पुनर्जीवन के बिंदुओं पर भी प्रकाश डाला। बैठक के दौरान उन्होंने जिला योजना पदाधिकारी को निदेश देते हुए कहा कि जिला कार्य योजना बनाने में जिले के लोगों का फीडबैक भी लेना आवश्यक है। इसके लिए एक निबंध प्रतियोगिता आयोजित कर यहां के आम नागरिक का भी फीडबैक प्राप्त किया जाए। बेहतर सुझाव देने वाले प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया जाएगा। बैठक के दौरान उप विकास आयुक्त श्री अमित कुमार पांडेय द्वारा पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से डिस्ट्रिक्ट एक्शन प्लान विस्तार से प्रकाश डाला गया एवं आवश्यक जानकारी दी गयी। बैठक में नगर आयुक्त, अपर समाहर्ता, नगर आयुक्त, डी.आर.डी.ए. के निदेशक, जिला स्तरीय सभी पदाधिकारीगण एवं कार्य प्रमंडल के सभी अभियंतागण उपस्थित थे।

Kumar Neeraj
 ©www.katiharmirror.com
एक टिप्पणी भेजें

Popular Posts

Featured Post

पुर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी की मृत्यु से देश भर में शोक की लहर

पूर्व प्रधान मंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन गुरुवार की शाम ५ बजकर ५ मिनट पर हो गया|उनके निधन पर ७ दिन के राष्ट्रिय शोक की घोषणा की गयी ह...