Tuesday, January 30, 2018

Katihar याद किए गए बापू


Mahatma Gandhi statue at Katihar
कटिहार 30 जनवरी 2018 शहीद दिवस के अवसर पर स्थानीय शहीद चौक स्थित महात्मा गांधी जी की प्रतिमा पर जिला पदाधिकारी, श्री मिथिलेश मिश्र ने माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की।
आज इस अवसर पर समाहरणालय के सभाकक्ष में जिला पदाधिकारी के नेतृत्व में सभी जिला स्तरीय पदाधिकारियों एवं कर्मचारियों ने कुष्ठ रोग के प्रति भेदभाव नहीं रखने तथा कुष्ठ रोग से पीड़ित व्यक्तियों की सेवा तथा उन्हें नि:शुल्क चिकित्सा सुलभ कराने की दिशा में मदद करने का संकल्प लिया गया|
साथ ही राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के कुष्ठमुक्त भारत के सपने को पूरा करने हेतु सदा प्रयत्नशील रहने की शपथ ली गई। जिले के कुर्सेला प्रखण्ड स्थित सर्वोदय आश्रम (गांधी घर) में महात्मा गाँधी की पुण्यतिथि पर "प्रायश्चित तथा संकल्प" कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत स्थानीय विद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा बापू के प्रिय भजन गाए जाने से हुई। आश्रम के अध्यक्ष पूर्व सांसद नरेश यादव की अध्यक्षता में सम्पन्न हुए इस कार्यक्रम में वक्ताओं ने महात्मा गाँधी के महान योगदान की चर्चा करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। अयोध्या प्रसाद सिंह उच्च विद्यालय के सेवानिवृत्त प्रधानाचार्य प्रभाकर झा ने कहा कि बापू के बलिदान के बाद उनके अस्थिभष्म को जब कुर्सेला लाया गया था, तो सैंकड़ो लोगों के साथ वह भी अस्थिभष्म के विसर्जन के लिए गंगा-कोसी संगम पर गए थे। उस समय के अपने अनुभव को साझा करते हुए उन्होंने कहा कि लोगों ने बच्चों की टोली को संगम तक नहीं जाने दिया था, इसलिए वे लोग किनारे पर ही खड़े होकर महात्मा गाँधी की जयकार कर रहे थे। इस अवसर पर कुर्सेला के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी ने भी अपने विचार व्यक्त किये। सर्वोदय आश्रम के अध्यक्ष श्री नरेश यादव ने कहा कि यदि हमें दुनिया की तमाम समस्याओं का निवारण करना है, तो गाँधी जी ही हमारी एकमात्र आशा हैं और इस आशा को धरती पर उतारने की शुरुआत हमें बच्चों से करनी होगी। उन्होंने कहा कि हमें बच्चों के पूर्वाग्रहमुक्त मस्तिष्क में गाँधीजी के विचार भरने होंगे, ताकि बच्चे दृढ़तापूर्वक गाँधी जी के मूल्यों के प्रति आस्थावान बनें और उन विचारों को अपने रोज के जीवन में उतारें। इस अवसर पर पूर्व सांसद नरेश यादव, कुर्सेला के बीडीओ, प्रभाकर झा, सुधांशु चौधरी, विजय जायसवाल, जयराम महतो, राजेन्द्र यादव, अनिल राम, देवेन्द्र महतो, बासुदेव मंडल सहित आश्रम के कई सदस्यों और ग्रामीणों सहित काफी संख्या में स्कूली बच्चे भी उपस्थित थे। इस कार्यक्रम में 11 और 12 फरवरी 2018 को आश्रम द्वारा आयोजित किए जा रहे पुण्यस्मृति पर्व की तैयारी पर भी चर्चा हुई और जिम्मेदारियां सौंपी गयी। गौरतलब है कि 12 फरवरी 1948 को कुर्सेला गंगा-कोसी संगम में बापू का अस्थिकलश प्रवाहित किया गया था, जिसकी याद में यह वार्षिक आयोजन होता आ रहा है। इस दिशा में जिला प्रशासन की भी सराहनीय भूमिका है। कार्यक्रम में हरिजन सेवक संघ के अध्यक्ष प्रो. शंकर सान्याल, गाँधी स्मृति एवं दर्शन समिति के निदेशक दीपंकर श्रीज्ञान, सर्वोदय आश्रम हरदोई की अध्यक्षा उर्मिला श्रीवास्तव सहित देशभर के कई गाँधीवादी नेता पधार रहे हैं। यह आश्रम अब अंतर्राष्ट्रीय फलक पर अपनी पहचान बना रहा है। पर्यटन विभाग, बिहार सरकार ने आश्रम को गाँधी सर्किट में शामिल करते हुए दो करोड़ बयालीस हजार की राशि भी स्वीकृत की है और माननीय प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में गठित गाँधी स्मृति एवं दर्शन समिति, दिल्ली ने आश्रम को महात्मा गाँधी व्याख्यान केन्द्र का दर्जा भी दिया है। आश्रम के अध्यक्ष पूर्व सांसद नरेश यादव ने यह भी बताया कि यह वर्ष आश्रम की स्थापना का 70वाँ वर्ष भी है, 75वें वर्ष आश्रम की स्वर्ण जयंती भी मनाई जाएगी और इन पाँच सालों के लिए गाँधी के सपनों का भारत बनाने की दिशा में एक्शन प्लान बनाकर लागू भी करना है। प्रभावी एक्शन प्लान के लिए देशभर के गाँधीवादी विचारकों, अर्थशास्त्रियों, इतिहासकारों, वैज्ञानिकों आदि से सुझाव लेने के लिए सम्पर्क किया जा रहा है।

Kumar Neeraj
 ©www.katiharmirror.com

No comments:

Get Katihar Mirror on Google Play

Katihar News App (Katihar Mirror) https://play.google.com/store/apps/details?id=sa.katiharmirror.com

Scroling ad