Monday, September 11, 2017

Katihar News दुर्गापूजा पंडालो में इस साल बनेंगे कई प्रसिद्ध मंदिरों के मॉडल

दुर्गा पूजा में कटिहार में पंडालो की सजावट देखते ही बनती है| हर साल एक से बढ़कर एक पंडाल देखने को मिलते हैं| कटिहार को मिनी कोलकाता भी कहा जाता है|हालाँकि
पिछले कुछ सालो में पूजा के दौरान विभिन्न कारणों से रौनक थोड़ी कम दिख रही थी| कभी बारिश ने बुरा हाल कर दिया था |
 इस साल दुर्गा पूजा में रौनक दिखने की उम्मीद है |विभिन्न जगहों पर परम्परागत ढंग से पंडाल बनाने का काम युद्धस्तर पर किया जा रहा है|
इसी क्रम में इस साल एलडब्लूसी सार्वजनिक पूजा समिति मिल क्षेत्र डहेरिया द्वारा कर्णाटक के एक गुरूद्वारे के आकर का पंडाल बनाया जा रहा है| 2004 में इस पूजा समिति बने गयी थी|तब से हर साल यहाँ आकर्षक पंडाल देखने को मिलते रहे है|रायगंज से आये कारीगर हर साल यहाँ कुछ नया बनाते है| ।

 वही लीडर क्लब द्वारा इस साल गुजरात के मंदिर का का रूप बनाकर पंडाल बनाया जा रहा है|१९७० से यहाँ पूजा पंडाल बनता आ रहा है| दुर्गा पूजा पंडाल के निर्माण में बंगाल के मालदा जिले के कारीगर इस काम में दिन रात लगे हुए हैं|

 संग्राम संघ द्वारा दक्षिण भारत के अश्विनी मंदिर का पंडाल बने जा रहा है|कोलकाता के नवोदित धाम से आए कारीगर कर रहे है|

 बनिया टोला पूजा समिति द्वारा इस साल दक्षिण भारत के मदुरई मंदिर की तर्ज़ पर पंडाल बन रहा है |रेक्सीन का प्रयोग कर के इस मंदिर का रूप दिया जायेगा|बंगाल के मेदनीपुर के कारीगर इस काम में लगे हुए हैं| १९५० से ही बनिया टोला पूजा समिति द्वारा पूजा पंडाल का आयोजन हो रहा है


लंगड़ा बागान स्थित यूथ क्लब के पंडाल इस साल पश्चिम बंगाल के मंदिर के रूप में बनाया जा रहा है। यूथ क्लब 1957 से पूजा का आयोजन करती आ रही है|इस साल रायगंज के कारीगरों द्वारा कपड़ा व बीट से बनेगा मंदिर का पंडाल|


कटिहार के अड़गड़ा चौक स्थित सार्वजनिक दुर्गा पूजा समिति गोकुल धाम की पूजा पंडाल इस साल चर्च के रूप का पांडाल बना रही है|। 2015 से पूजा समिति द्वारा पूजा का का आयोजन किया जा रहा है।पश्चिम बंगाल के कारीगर देंगे चर्च का रूप|

दुर्गापुर के  न्यू संघर्ष कल्ब के पंडाल को पश्चिम बंगाल के एक मंदिर का स्वरूप दिया जा रहा है। पूजा समिति कई सालो से  यहां पूजा का आयोजन किया जा रहा है| हवाई अड़डा चौक स्थित त्रिनेत्री युवा संघ के पंडाल को मंदिर का स्वरूप दिया जा रहा है।पांच वर्षों से यहां पूजा का आयोजन किया जा रहा है।
 ©www.katiharmirror.com

No comments:

Get Katihar Mirror on Google Play

Katihar News App (Katihar Mirror) https://play.google.com/store/apps/details?id=sa.katiharmirror.com

Scroling ad