Thursday, August 17, 2017

Katihar flood हवाई राहत की एक्सक्लूसिव रिपोर्टिंग

सीमांचल का पूरा क्षेत्र बाढ़ की विभीषिका से त्रस्त है रेलवे राहत सामग्री पहुंचाने में हाथ खड़े कर चुकी है क्यों कि रेलवे पटरी बाढ़ के पानी के सामने धराशाही हो चुका है । एनडीआरएफ की अन्य टीमें पानी मैं फसे लोगो को निकाल कर राहत शिविर मै बचाने में जुटी हुई है लेकिन बाढ़ मै अभी भी लाखों जाने फसी हुई है । भारतीय वायुसेना इन बाढ़ पीड़ितों के लिए भगवान का दूसरा रूप बनकर  करक बीच पहुँच रही है ।  हम नहीं कह रहे है  इस मुशीबत के बीच जहा चारो ओर पानी ही पानी हो कई दिनों से भूख प्यास से तड़प रहे परिवार को भोजन और राहत सामग्री पहुचाने का बीड़ा जो उठाया है ।

 काम करने के तरीके बिना रुके बिना  बिना थके जी-जान से एक ही मकसद कम समय में ज्यादा से ज्यादा लोगों तक राहत पहुंचाना । युद्ध हो तो दुश्मनों के छक्के छुड़ाना कोई राष्ट्रीय विपदा आगयी हो तो कंधे से कंधा मिलाकर एक ही मकसद अपने देश की सेवा करना
ऐसे भारतीय सेना को कटिहार मिरर की टिम की तरफ से करता है दिल से सलाम
पूर्णिया एयर पोर्ट से नीरज झा की   एक्सलुसिब रिपोटिंग


पूर्णिया सहित आस-पास के जिलों में आई प्रलयंकारी बाढ़ के बाद बाढ़ग्रस्त इलाकों से अन्य जगहों का संपर्क ख़त्म हो गया है जिसके बाद इस विपदा में फसे लोगो को बाहर निकालने के काम में एनडीआरएफ, सेना एवं एसडीआरएफ की टीम लगातार जुटी हुई है। इसके साथ-साथ सेना व स्थानीय प्रशासन के संयुक्त सहयोग से बाढ़ पीड़ितों के लिए हेलीकॉप्टर के माध्यम से सूखा राशन पैकेट का वितरण भी शुरू कर दिया गया है। पूर्णिया के चुनापुर सैन्य हवाई अड्डे से पूर्णिया, कटिहार,अररिया व किशनगंज में राहत सामग्री पहुचाई जा रही इन चारों जिले में राहत सामग्री पहुचाये जाने के जिम्मा सरकार ने पूर्णिया के डीएम प्रदीप कुमार झा को नोडल पदाधिकारी नियुक्त कर दिया है . हेलीकॉप्टर के माध्यम जल्द से जल्द लोगों तक राहत सामग्री पहुचे इसके लिए एयर फ़ोर्स के पाईलट जल्द से जल्द राहत सामग्री जरुरतमंद को पंहुचा कर ज्यादा से ज्यादा बार उड़ान भरने के लिए प्रयासरत है .चारों जिले के वरीय पदाधिकारी चुनापुर सैन्य हवाई अड्डा पूर्णिया में जमे।



पूर्णिया, कटिहार , अररिया और किशनगंज के वरीय अधिकारी चुनापुर सैन्य हवाई अड्डे पर जमे हुए है और पूरी मुस्तैदी से अपनी निगरानी में राहत सामग्रियों को बाढ़ पीड़ितों तक पहुचाने में भीड़े हैं ।

दो हेलीकॉप्टर के माध्यम से पहुँचाई जा रही है मदद

बाढ़ग्रस्त इलाकों में हेलीकॉप्टर के माध्यम से राहत सामग्रियां पहुचाई जा रही हैं जिसमे हर एक  उड़ान में 580 पैकेट आसपास रखी जा रही है जो बाढ़ पीड़ित लोगों तक  पहुँचाई जा रही है । खराब मौसम रहते हु भी .दो दिनों में 23 उड़ाने पर 21 उड़ानों से ही पहुँची राहत सामग्री
मंगलवार को 13 उड़ानों से बाढ़ पीड़ितों के बीच राहत सामग्री पहुंचाई गई थी और बुधवार को 8 उड़ानों से राहत सामग्री लोगों के बीच पहुँचाई जा सकी जबकि बुधवार को 2 उड़ाने मौसम ख़राब होने की वजह से वापस चुनापुर सैन्य हवाई अड्डे आ गई . बुधवार के 8 उड़ानों में पूर्णिया के अमौर में 1, अररिया जोकीहाट, मदनपुर में 4, कटिहार के कदवा,आजमनगर,बलरामपुर में 3 उड़ानों से राहत सामग्री बाढ़ पीड़ितों के बीच पहुँचाई गई है ।


क्या -क्या है राहत सामग्री में ?

सरकार का पहला मकसद बाढ़ पीड़ित को राहत सामग्री पहुचा कर बाढ़ पीड़ित को बचाना  इस पैकेट  5 किलो के थैले में ढाई किलो चूड़ा, एक किलो चना, आधा किलो नामक , आधा किलो चीनी , माचिस और मोमबत्ती शामिल है

सेना बाढ़ प्रभावित लोगों को हर संभव मदद उपलब्ध करवाने के लिए कृतसंकल्प है सिर्फ एक ही मकसद जल्द से जल्द, ज्यादा से ज्यादा लोगों के बीच राहत सामाग्री पहुचाई जाय । जिला प्रसासन दावरा भेजी जा रही राहत सामाग्री चुनापुर सैन्य हवाई अड्डे पर प्रयाप्त मात्रा में  यहाँ मौजूद भारतीय सेना  तेजी से बाढ़ पीड़ितों को पाहुचने में लगे हैं _
नितिन तलवार , विंग कमांडर , चुनापुर सैन्य हवाई अड्डा, पूर्णिया ।
इससे हट से
..….….…....पूर्णिया के राहत शिविरों में खाना खाये डीएम और एसपी

डीएम पूर्णिया प्रदीप कुमार झा और एसपी पूर्णिया निशांत तिवारी ने बुधवार रात का भोजन बाढ़ प्रभावित क्षेत्र सुदूर पूर्णिया के बेलगच्छी गाँव के राहत शिविर में खाया और खाना खाके गुणवत्ता की जांच भी की ।
Kumar Neeraj
©www.katiharmirror.com

No comments:

Get Katihar Mirror on Google Play

Katihar News App (Katihar Mirror) https://play.google.com/store/apps/details?id=sa.katiharmirror.com

Scroling ad